GK Trick – न्यूटन की गति के नियम ( Newton’s Law Of Motion )

नमस्कार दोस्तो , आज की इस Post में हम आपको  न्यूटन की गति के नियम ( Newton’s Law Of Motion ) के बारें में एक GK Trick बताऐंगे , जिससे कि आप इन्हें आसानी से क्रमबद्ध तरीके से याद रख पाऐंगे ! लेकिन इससे पहले कि हम आपको वो GK Trick बताऐं उससे पहले हम आपको न्यूटन की गति के नियमों के बारे में बताऐंगे !




तो चलिये दोस्तो शुरु करते है है !

न्यूटन की गति के नियम ( Newton’s Law Of Motion ) –

सर आइजेक न्यूटन ने सबसे पहले 1687 में अपनी पुस्तक प्रिंसीपिया ( Principia ) में गति के नियमो ( Law of Motion ) को प्रतिपादित किया इसलिए इस वैज्ञानिक के सम्मान में गति के नियमों को न्यूटन के नियम कहा जाता है !

1) गति का प्रथम नियम – ( जडत्व का नियम – Law of inertia )

यदि कोई बस्तु विरामावस्था में है तो वह तब तक विराम की अवस्था में ही रहेगी जब तक उसपर बाहरी बल लगाकर गतिशील नहीं किया जायेगा और यदि कोई वस्तु गतिशील है तो उस पर बाहरी बल लगाकर ही विरामावस्था में पहुँचाया जा सकता है। न्यूटन के प्रथम नियम को जड़त्व का नियम (Law Of Inertia) भी कहा जाता है !

उदाहरण –
1. रूकी हुई गाड़ी के अचानक चलने पर उसमें बैठे यात्री पीछे की ओर झुक जाते है !
2. चलती हुई गाड़ी के अचानक रूकने पर उसमें बैठे यात्री आगे की ओर झुक जाते है !
3. पेड़ को हिलाने से उसके फल टूटकर नीचे गिर जाते है !

2) गति का द्वितीय नियम – ( संवेग का नियम – Law of Momentum )

वस्तु के संवेग (Momentum) में परिवर्तन की दर उस पर लगाये गये बल के अनुक्रमानुपाती (Directly Prepotional) होती है तथा संवेग परिवर्तन आरोपित बल की दिशा में ही होता है !

उदाहरण –
1. क्रिकेट खिलाड़ी तेजी से आती हुई गेंद को केंच करते समय अपने हाथों को गेंद के वेग को कम करने के लिए पीछे की ओर खीच लेता है। ताकि उसकेा चोट न लगे !
2. गद्दा या मिट्टी के फर्श पर गिरने से सीमेंट के फर्श की तुलना कम चोंट आती है !

3) गति का तीसरा नियम – ( क्रिया – प्रतिक्रिया का नियम Rule of Action and Reaction)

इस नियम के अनुसार प्रत्येक क्रिया के बराबर तथा विपरीत दिशा में प्रतिक्रिया होती है ! इस नियम को क्रिया-प्रतिक्रिया का नियम भी कहा जाता है !

उदाहरण –
1. बन्दूक से गोली छोड़ते समय पीछे की ओर झटका लगना !
2. कुँए से पानी खीचते समय रस्सी टूट जाने पर व्यक्ति का पीछे गिर जाना !
3. राँकेट का आगे बढ़ना, उंचाई के कूंदने पर चोट लगना !




दोस्तो अक्सर Competitive Exams में Questions आते है कि न्युटन का पहला नियम कौन सा है या दूसरा नियम कौन सा है , लेकिन हम अक्सर Confuse रहते हैं और इनका क्रम याद नहीं रख पाते कि कौन सा पहला है और कौन सा दुूसरा या तीसरा !

तो दोस्तो इसके लिये नीचे हम आपको एक GK Trick बता रहे है जिससे कि आप आसानी से इनका क्रम याद रख पाऐंगे !

GK Trick –

जड से क्रिया

Explanation –

ट्रिकी वर्ड क्रम नियम
जड 1st नियम जडत्व का नियम
से 2nd नियम संवेग का नियम
क्रिया 3rd नियम क्रिया – प्रतिक्रिया का नियम

Related General Knowledge Tricks – 

इसी तरह की ओर अधिक Tricks पाने के लिये खरीदिये GK Trick की किताब –

Note – अब आप हमारी Android App को यहां पर Click करके Google Play Store से Download कर सकते है

दोस्तो कोचिंग संस्थान के बिना अपने दम पर Self Studies करें और महत्वपूर्ण पुस्तको का अध्ययन करें , हम आपको Civil Services के लिये महत्वपूर्ण पुस्तकों की सुची उपलब्ध करा रहे है –

तो दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस Facebook पर Share अवश्य करें ! अब आप हमें Facebook पर Follow कर सकते है !  क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !






TAG –  Trick of GK , GK Apps in Hindi , GK Hindi Trick , GK Short Tricks in Hindi PDF , GK Trick App , General Knowledge Tricks , GK Tricks Book , Daily GK App , GK Trick in Hindi Apps , GK Short Tricks App , GK Short Trick Book Free Download , GK Shortcut Tricks in Hindi PDF , Magic Tricks in Hindi , GK for Kids , Tricks of History , India GK Tricks , History Tricks , General Knowledge Tricks in Hindi , www GK Hindi Download , GK Shortcut Tricks , www GK com in Hindi , Indian History Learning Tricks , Tricks to Remember Indian History

Author: Nitin Gupta

GK Trick by Nitin Gupta पर आपका स्वागत है !! अपने बारे में लिखना सबसे मुश्किल काम है ! में इस विश्व के जीवन मंच पर एक अदना सा और संवेदनशीलकिरदार हूँ जो अपनी भूमिका न्यायपूर्वक और मन लगाकर निभाने का प्रयत्न कर रहा हूं !! आप मुझे GKTrickbyNitinGupta का Founder कह सकते है !
मेरा उद्देश्य हिन्दी माध्यम में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने बाले प्रतिभागियों का सहयोग करना है !! आप सभी लोगों का स्नेह प्राप्त करना तथा अपने अर्जित अनुभवों तथा ज्ञान को वितरित करके आप लोगों की सेवा करना ही मेरी उत्कट अभिलाषा है !!

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *