सामान्य हिंदी

सामान्य हिन्दी – अनेक शब्दों के एक शब्द

Anek Shabdon ke Liye Ek Shabd Hindi Mai
Written by Nitin Gupta

नमस्कार दोस्तों आज की हमारी पोस्ट हिंदी विषय से संबंधित है इस पोस्ट में हम आपको सामान्य हिंदी के अति महत्वपूर्ण अनेक शब्दों के लिए एक शब्द बताएंगे जो कि पिछली प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे कि  UPSC , MPPSC , UPPCS , RAS में पूंछे जा चुके हैं और बार बार पूंछे जाते है. ! तो ये आने बाले सभी Exams के लिये खासकर MPSI के लिये बहुत ही महत्वपूर्ण है तो आप इसे अच्छे से याद कर लीजियेगा ! तो चलिये दोस्तो शुरू करते हैं !!

सभी बिषयवार Free PDF यहां से Download करें

 Anek Shabdon ke Liye Ek Shabd Hindi Mai 

  • जो सबके अन्तःकारण की बात जानने वाला हो – अन्तर्यामी (MPPCS, RAS, UPPCS, IAS)
  • जो पहले कभी न हुआ हो – अभूतपूर्व (IAS, RAS)
  • जो शोक करने योग्य न हो – अशोक (UPPCS)
  • जो खाने योग्य ने हो – अखाद्य (UPPCS)
  • जो क्षीण न हो सके – अक्षय (RO)
  • जिसकी गहराई या थाह का पता न लग सके – अथाह, अगाध (RAS, UPPCS)
  • जो चिन्ता के योग्य न हो – अचिन्त्य, अचिन्तनीय (RAS)
  • जो इन्द्रियों द्वारा न जाना जा सके – अगोचर, अतीन्द्रीय (IAS)
  • जो वस्तु किसी दूसरे के पास रखी हो – अमानत (UPPCS)
  • जो बीत चुका हो – अतीत (IAS)
  • जो दिखायी न पड़े – अदृश्य, अप्रत्यक्ष (UPPCS, IAS)
  • जो सदा से चला आ रहा है – अनवरत (IAS)
  • जो कभी नहीं मरता – अमर्त्य, अमर (APO, RAS, IAS)
  • जो आगे (दूर) की न सोचता हो – अदूरदर्शी (Upper Sub.)
  • जो आगे (दूर) की सोंचता हो – अग्रसोची, दूरदर्शी (UPPCS)
  • धरती (पृथ्वी) और आकाश के बीच का स्थान – अंतरिक्ष (UPPCS)
  • जिसका कोई अर्थ न हो – अर्थहीन (UPPCS)
  • जिस पर आक्रमण न किया गया हो – अनाक्रांत (UPPCS)
  • जिसे जीता न जा सके – अजेय (UPPCS, Upper Sub., RO)
  • बिना वेतन काम करने वाला – अवैतनिक (UPPCS, B.Ed., Low Sub.)
  • जिसका जन्म पहले हुआ हो (बड़ा भाई) – अग्रज (RAS)
  • दोपहर के बाद का समय – अपराह्न (IAS,  Upper Sub., UPPCS)
  • जो पराजित न किया जा सके – अपराजेय (UKPCS)
  • अधिक बढ़ा-चढ़ा कर कहना – अतिशयोक्ति, अतियुक्ति (B.Ed.)
  • जिसका परिहार (त्याग) न हो सके/जिसको छोड़ा न जा सके – अपरिहार्य (UPPCS, B.Ed., Low Sub.)
  • जो कानून के प्रतिकूल हो/जो विधि के विरुद्ध हो – अवैध, अविधिक (UPPCS, IAS)
  • जो समय पर न हो – असामयिक (UPPCS)
  • जो अवश्य होने वाला हो – अवश्यम्भावी (APO, UPPCS)
  • जिसका विवाह न हुआ हो – अविवाहित (IAS)
  • जो सबके अन्तःकारण की बात जानने वाला हो – अन्तर्यामी (MPPCS)
  • जिसका इलाज न हो सके – असाध्य (RO)
  • किसी कार्य के लिए दी जाने वाली आर्थिक सहायता – अनुदान (UKPCS)
  • व्यर्थ/अनुचित खर्च करने वाला – अपव्ययी (RAS, UPPCS)
  • जिसकी पहले से कोई आशा न हो – अप्रत्याशित (UPPCS, APO)
  • पुरुष जो अभिनय करता हो – अभिनेता (MPPSC)
  • जो भेदा या तोड़ा न जा सके – अभेद्य (Low Sub.)
  • जिसका जन्म छोटी जाति (निचले वर्ण) में हुआ हो – अंत्यज (RO)
  • जो अभी-अभी उत्पन्न हुआ हो – अद्यःप्रसूत (UPPCS)
  • जिसको क्षमा न किया जा सके – अक्षम्य (Low Sub.)
  • जो न जाना जा सके – अज्ञेय (Upper Sub., UPPCS)
  • जो कुछ न जानता हो – अज्ञ, अज्ञानी (UPPCS, B.Ed.)
  • कम बोलने वाला – अल्पभाषी, मितभाषी (Low Sub., APO, UPPCS, RAS,)
  • थोड़ा जानने वाला – अल्पज्ञ (RAS, MPPCS)
  • जिसका कभी अन्त न हो – अनन्त (UPPCS, B.Ed.)
  • जिसका माँ-बाप न हो – अनाथ (IAS,  UPPCS)
  • जिसके समान कोई दूसरा न हो – अद्वितीय (RAS, IAS,  UPPCS)
  • जिस पर मुकद्दमा चल रहा हो/ जिस पर अभियोग लगाया गया हो – अभियुक्त, अभियोगी (UPPCS, APO, IAS)
  • जिसकी कोई सीमा न हो – असीम (IAS,  UPPCS)
  • जिसके आने की कोई तिथि न हो – अतिथि (IAS,  UPPCS)
  • जिसे भुलाया न जा सके – अविस्मृति (IAS)
  • जिसकी उपमा न हो – अनुपम, अनुपमा (UPPCS, IAS)
  • जिसे बुलाया न गया हो/जो बिना बुलाये आया हो – अनाहूत (IAS,  UPPCS)
  • जिसका वचन या वाणी द्वारा वर्णन न किया जा सके/जिसे वाणी व्यक्त न कर सके – अनिर्वचनीय, अवर्णनीय (IAS,  UPPCS)
  • जिसे शब्दों में नहीं कहा जा सके – अकथनीय (UPPCS)
  • जिसका निवारण न हो सकता हो – असाध्य (UPPCS, B.Ed.)
  • जो अनुकरण करने योग्य हो – अनुकरणीय (APO)
  • किसी के पीछे-पीछे चलने वाला/जो पीछे चलता हो – अनुचर, अनुगामी, अनुयायी (IAS,  B.Ed.)
  • जिस पर अनुग्रह किया गया हो – अनुगृहीत (UPPCS, B.Ed.)
  • जो हिसाब किताब की जाँच करता हो – अंकेक्षक (MPPCS)
  • रूप के अनुसार – अनुरूप (UPPCS)
  • सोच-समझकर कार्य न करने वाला – अविवेकी (UPPCS, RAS)
  • जो पहले कभी घटित न हुआ हो – अघटित (IAS)
  • जिसकी परिभाषा देना संभव न हो – अपरिभाषित (IAS,  B.Ed.)
  • विकृत शब्द/बिगड़ा हुआ शब्द – अपभ्रंश (UPPCS)
  • जो विश्वास करने योग्य (लायक) न हो – अविश्वासनीय (Low Sub.)
  • जिसका किसी भी प्रकार उल्लंघन नहीं किया जा सके – अनुलंघनीय (Low Sub.)
  • जो अभी तक न आया हो – अनागत (IAS,  B.Ed.)
  • मूल्य घटाने की क्रिया – अवमूल्यन (IAS,  B.Ed.)
  • अधिकार या कब्जे में आया हुआ – अधिकृत (UKPCS)
  • जो पहले कभी नहीं सुना गया – अनुश्रुत (Low Sub.)
  • जिसका जन्म अण्डे से हो – अण्डज (APO, B.Ed.)
  • गुरु के समीप या साथ रहने वाला विद्यार्थी – अन्तेवासी (UPPCS, B.Ed.)
  • जो व्यय न किया जा सके – अव्यय (Low Sub.)
  • जिसका उत्तर न दिया गया हो – अनुत्तरित (Low Sub., UPPCS)
  • जो बदला न जा सके – अपरिवर्तनीय (Low Sub.)
  • जो इधर-उधर से घूमता-फिरता आ जाए – आगन्तुक (UPPCS, IAS)
  • जो आदर करने योग्य हो – आदरणीय (IAS)
  • आशा से अधिक/जिसकी आशा न की गई हो – आशातीत (Upper Sub., Low Sub.)
  • आलोचना करने वाला – आलोचक (Upper Sub.)
  • आदि से अन्त तक – आद्योपान्त, आद्यन्त (UPPCS, IAS)
  • जो अपने पैरों पर खड़ा हो – आत्म-निर्भर (UPPCS)
  • आभार मानने वाला – आभारी (RAS, UPPCS)
  • जो किसी वस्तु या व्यक्ति के गुण-दोष की आलोचना करता हो – आलोचक (Upper Sub.)
  • वह कवि जो तत्काल/तत्क्षण कविता कर डालता हो – आशुकवि (UKPCS, UPPCS)
  • जो स्वयं का मत मानने वाला हो – आत्मभिमत (UPPCS)
  • जो ईश्वर को मानता हो – आस्तिक (MPPCS, Low Sub., UPPCS, BPSC, UKPCS)
  • अतिथि की सेवा करने वाला – आतिथेयी (UKPCS)
  • भगवान के सहारे अनिश्चित आय – आकाशवृत्ति (UKPCS)
  • जो परम्परा से सुना हुआ हो – आनुश्राविक (UKPCS)
  • जो इन्द्रियों को वश में कर ले – इन्द्रिय-निग्रहवान (Upper Sub.)

 अन्य महत्वपूर्ण एक शब्दों के अनेक शब्द 

1. जहाँ पहुँचा न जा सके – अगम, अगम्य
2. जिसे बहुत कम ज्ञान हो, थोड़ा जानने वाला – अल्पज्ञ
3. मास में एक बार आने वाला – मासिक
4. जिसके कोई संतान न हो – निस्संतान
5. जो कभी न मरे – अमर
6. जिसका आचरण अच्छा न हो – दुराचारी
7. पंद्रह दिन में एक बार होने वाला – पाक्षिक
8. अच्छे चरित्र वाला – सच्चरित्र
9. आज्ञा का पालन करने वाला – आज्ञाकारी
10. रोगी की चिकित्सा करने वाला – चिकित्सक
11. सत्य बोलने वाला – सत्यवादी
12. दूसरों पर उपकार करने वाला – उपकारी
13. जिसे कभी बुढ़ापा न आये – अजर
14. दया करने वाला – दयालु
15. जिसका आकार न हो – निराकार
16. जो आँखों के सामने हो – प्रत्यक्ष
17. जिसे देखकर डर (भय) लगे – डरावना, भयानक
18. जो स्थिर रहे – स्थावर
19. ज्ञान देने वाली – ज्ञानदा
20. भूत-वर्तमान-भविष्य को देखने (जानने) वाले – त्रिकालदर्शी
21. जानने की इच्छा रखने वाला – जिज्ञासु
22. जिसे क्षमा न किया जा सके – अक्षम्य
23. जिसका कोई मूल्य न हो – अमूल्य
24. जो वन में घूमता हो – वनचर
25. जो इस लोक से बाहर की बात हो – अलौकिक
26. जो इस लोक की बात हो – लौकिक
27. जिसके नीचे रेखा हो – रेखांकित
28. जिसका संबंध पश्चिम से हो – पाश्चात्य
29. जो स्थिर रहे – स्थावर
30. दुखांत नाटक – त्रासदी
31. जो क्षमा करने के योग्य हो – क्षम्य
32. हिंसा करने वाला – हिंसक
33. हित चाहने वाला – हितैषी
34. हाथ से लिखा हुआ – हस्तलिखित
35. सब कुछ जानने वाला – सर्वज्ञ
36. जो स्वयं पैदा हुआ हो – स्वयंभू
37. जो शरण में आया हो – शरणागत
38. जिसका वर्णन न किया जा सके – वर्णनातीत
39. फल-फूल खाने वाला – शाकाहारी
40. जिसकी पत्नी मर गई हो – विधुर
41. जिसका पति मर गया हो – विधवा
42. सौतेली माँ – विमाता
43. व्याकरण जाननेवाला – वैयाकरण
44. रचना करने वाला – रचयिता
45. खून से रँगा हुआ – रक्तरंजित
46. अत्यंत सुन्दर स्त्री – रूपसी
47. कीर्तिमान पुरुष – यशस्वी
48. कम खर्च करने वाला – मितव्ययी
49. मछली की तरह आँखों वाली – मीनाक्षी
50. मयूर की तरह आँखों वाली – मयूराक्षी
51. बच्चों के लिए काम की वस्तु – बालोपयोगी
52. जिसकी बहुत अधिक चर्चा हो – बहुचर्चित
53. जिस स्त्री के कभी संतान न हुई हो – वंध्या (बाँझ)
54. फेन से भरा हुआ – फेनिल
55. प्रिय बोलने वाली स्त्री – प्रियंवदा
56. जिसकी उपमा न हो – निरुपम
57. जो थोड़ी देर पहले पैदा हुआ हो – नवजात
58. जिसका कोई आधार न हो – निराधार
59. नगर में वास करने वाला – नागरिक
60. रात में घूमने वाला – निशाचर
61. ईश्वर पर विश्वास न रखने वाला – नास्तिक
62. मांस न खाने वाला – निरामिष
63. बिलकुल बरबाद हो गया हो – ध्वस्त
64. जिसकी धर्म में निष्ठा हो – धर्मनिष्ठ
65. देखने योग्य – दर्शनीय
66. बहुत तेज चलने वाला – द्रुतगामी
67. जो किसी पक्ष में न हो – तटस्थ
68. तत्त्त्तव को जानने वाला – तत्त्त्तवज्ञ
69. तप करने वाला – तपस्वी
70. जो जन्म से अंधा हो – जन्मांध
71. जिसने इंद्रियों को जीत लिया हो – जितेंद्रिय
72. चिंता में डूबा हुआ – चिंतित
73. जो बहुत समय कर ठहरे – चिरस्थायी
74. जिसकी चार भुजाएँ हों – चतुर्भुज
75. हाथ में चक्र धारण करनेवाला – चक्रपाणि
76. जिससे घृणा की जाए – घृणित
77. जिसे गुप्त रखा जाए – गोपनीय
78. गणित का ज्ञाता – गणितज्ञ
79. आकाश को चूमने वाला – गगनचुंबी
80. जो टुकड़े-टुकड़े हो गया हो – खंडित
81. आकाश में उड़ने वाला – नभचर
82. तेज बुद्धिवाला – कुशाग्रबुद्धि
83. कल्पना से परे हो – कल्पनातीत
84. जो उपकार मानता है – कृतज्ञ
85. किसी की हँसी उड़ाना – उपहास
86. ऊपर कहा हुआ – उपर्युक्त
87. ऊपर लिखा गया – उपरिलिखित
88. जिस पर उपकार किया गया हो – उपकृत
89. इतिहास का ज्ञाता – अतिहासज्ञ
90. आलोचना करने वाला – आलोचक
91. ईश्वर में आस्था रखने वाला – आस्तिक
92. बिना वेतन का – अवैतनिक
93. जो कहा न जा सके – अकथनीय
94. जो गिना न जा सके – अगणित
95. जिसका कोई शत्रु ही न जन्मा हो – अजातशत्रु
96. जिसके समान कोई दूसरा न हो – अद्वितीय
97. जो परिचित न हो – अपरिचित
98. जिसकी कोई उपमा न हो – अनुपम

दोस्तो आप मुझे ( नितिन गुप्ता ) को Facebook पर Follow कर सकते है ! दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस Facebook पर Share अवश्य करें ! क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !

दोस्तो कोचिंग संस्थान के बिना अपने दम पर Self Studies करें और महत्वपूर्ण पुस्तको का अध्ययन करें , हम आपको Civil Services के लिये महत्वपूर्ण पुस्तकों की सुची उपलब्ध करा रहे है –

TAG – अनेक शब्दों के लिए एक शब्द , Anek Shabdon ke Liye Ek Shabd Hindi Mai , Hindi One Word Substitution PDF , Ek Shabd ke Anek Arth in Hindi , M.P.S.I. Notes in Hindi , MP SI Hindi Notes PDF Download , MP Notes in Hindi PDF

About the author

Nitin Gupta

GK Trick by Nitin Gupta पर आपका स्वागत है !! अपने बारे में लिखना सबसे मुश्किल काम है ! में इस विश्व के जीवन मंच पर एक अदना सा और संवेदनशीलकिरदार हूँ जो अपनी भूमिका न्यायपूर्वक और मन लगाकर निभाने का प्रयत्न कर रहा हूं !! आप मुझे GKTrickbyNitinGupta का Founder कह सकते है !
मेरा उद्देश्य हिन्दी माध्यम में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने बाले प्रतिभागियों का सहयोग करना है !! आप सभी लोगों का स्नेह प्राप्त करना तथा अपने अर्जित अनुभवों तथा ज्ञान को वितरित करके आप लोगों की सेवा करना ही मेरी उत्कट अभिलाषा है !!

2 Comments

Leave a Comment